Tears In Eye: आंखों से पानी आना या Watery Eyes जानिए इसके लक्षण, कारण एवं इलाज ? |Tears In Eye Know About Its Symptoms Causes and Best Treatments in Hindi

Share on facebook
Share on twitter
Share on linkedin
Share on whatsapp
Tears In Eye: आंखों से पानी आना या Watery Eyes जानिए इसके लक्षण, कारण एवं इलाज ? |Tears In Eye Know About Its Symptoms Causes and Best Treatments in Hindi

आंखों से पानी आना क्या है जानिए आंखों से पानी आने के लक्षण, कारण व इलाज ?

आंखों से पानी आने का मतलब आंखों से बहुत सारे आंसू निकलना होता है। आंखों में पानी आना एक सामान्य विकार है, परंतु बहुत सी स्थिति ऐसी होती है। यदि लगातार आंखों से पानी निकलता रहे तो आपकी आंखें खराब भी हो सकती हैं, क्योंकि आंखों से लगातार पानी निकलना आंखों से संबंधित बीमारी का संकेत भी हो सकता हैं, या फिर ऐसा भी हो सकता है कि आपकी दृष्टि कम हो गई है।

जिसके कारण आपकी आंखों से पानी निकलता है और आपकी आंखों पर काफी जोर पड़ता है। आंखों से पानी आना कोई बीमारी नहीं होती लेकिन जब आंखों से पानी हर समय ही निकलता रहे, तो उस समय यह समस्या पैदा कर सकती है। आज हम इस पोस्ट के माध्यम से आपको Tears In Eye के बारे में विस्तार से बताएंगे की :-

  • आंखों से पानी आना क्या है – What Is Tears In Eye In Hindi ?
  • आंखों से पानी आने के क्या लक्षण होते है – Symptoms Of Tears In Eye In Hindi ?
  • आंखों से पानी आने के क्या कारण होते हैं – Causes Of Tears In Eye In Hindi ?
  • आंखों से पानी आने का परीक्षण कैसे होता है – Diagnosis Of Tears In Eye In Hindi ?
  • आंखों से पानी आने की समस्या से कैसे बचें – Prevention Of Tears In Eye In Hindi ?
  • आंखों से पानी आने का इलाज – Treatment Of Tears In Eye In Hindi ?
Tears In Eye: आंखों से पानी आना या Watery Eyes जानिए इसके लक्षण, कारण एवं इलाज ? |Tears In Eye Know About Its Symptoms Causes and Best Treatments in Hindi

आंखों से पानी आना क्या है – What Is Tears In Eye In Hindi ?

  • आंखों से जब लगातार आंसू आते हैं, तो उसे हम आंखों से पानी निकलना भी कहते हैं आंसू हमारी आंखों की सतह को नम रखने में काफी मदद करते हैं। आंसू हमारी आंखों में चिकनाई रखने के लिए बाहरी कानून तथा पदार्थों को हमारी आंखों से बाहर निकालने में काफी मदद करते हैं अगर हमारी आंखों से कभी कभी पानी आता है, तो यह बिल्कुल स्वाभाविक है यह चिंता की बात नहीं है, परंतु अगर हमारी आंखों में से ज्यादा मात्रा में पानी निकलता है, तो यह स्थिति हमारी आंखों के लिए अच्छी नहीं होती।
  • हमारी आंखें हमेशा आंसू बनाती रहती है और यही आंसू हमारी आंख के कोने में छोटे-छोटे खेलों के माध्यम से ही बाहर निकलते हैं। इन छोटे थे दों को अश्रु नलिकाएं भी कहा जाता है, वैसे तो वह आंखों से पानी आने के बहुत से कारण हो सकते हैं अगर व्यक्ति की अश्रु नलिकाएं ढंग से काम नहीं कर रही हैं, तो उसके कारण भी आंखों से पानी आ सकता है।
  • इसके अतिरिक्त जब आंखों में जरूरत से ज्यादा पानी बनने लगता है, तो उसके कारण भी वह से बाहर निकलता है। इसके अतिरिक्त आंखों से पानी आने की और भी बहुत से कारण हो सकते हैं, जोकि हम आगे आपको विस्तार से बताएंगे।

Paurush Jeevan Capsule: पौरुष जीवन कैप्सूल फायदे, उपयोग, खुराक, एवं साइड इफेक्ट |Paurush Jeevan Capsule 10 Benefits, Uses, Dosage, Precaution & Side effects in Hindi

आंखों से पानी आने के क्या लक्षण होते है – Symptoms Of Tears In Eye In Hindi ?

  • अगर व्यक्ति को कम दिखाई दे रहा है तो यह भी आंख से पानी आने का ही लक्षण हैं।
  • आंसू आने पर आसपास सूजन व दर्द होना भी इसी का ही लक्षण है। इसके अतिरिक्त यदि आपको ऐसा लगता है, कि आपकी आंख में कुछ फंसा हुआ है तो यह भी इसी बीमारी का लक्षण है।
  • आंखों का लगातार लाल रहना तथा आंखों पर एलर्जी महसूस होना भी इसी का ही लक्षण है।
  • आंखों के फूलने के साथ-साथ आंखों में सूखापन भी महसूस हो सकता है, परंतु यह थायराइड बढ़ने का लक्षण भी हो सकता है।
  • आंखों में दर्द होना या फिर आंखों क्या आस-पास पपड़ी जमना भी किसी का ही संकेत हैं।

डॉक्टर को कब दिखाना चाहिए ?

अगर आंखों से पानी निकलने के साथ-साथ दृष्टि में भी कमी आ जाती है, तो तुरंत ही डॉक्टर को दिखाना चाहिए। यदि आपकी आंखें बिल्कुल लाल रहती हैं, आंखों से खून निकल रहा है या फिर आपको कुछ ऐसा महसूस हो रहा है, कि आपकी आंखों में कुछ फंसा हुआ है तो आपको इन परिस्थितियों में तुरंत ही आंखों के अच्छे डॉक्टर के पास जाना चाहिए, और उसे अपनी परिस्थिति के बारे में बताना चाहिए।

इसके अतिरिक्त यदि आपकी आंखों के चारों ओर की त्वचा नीली पड़ जाती है, या फिर आंखों में दर्द की वजह से आपका सिर दर्द भी हो जाता है तो, तब भी आपको इस परिस्थिति को बिल्कुल भी नजरअंदाज नहीं करना चाहिए और तुरंत ही डॉक्टर को दिखाना चाहिए।

Tears In Eye: आंखों से पानी आना या Watery Eyes जानिए इसके लक्षण, कारण एवं इलाज ? |Tears In Eye Know About Its Symptoms Causes and Best Treatments in Hindi

आंखों से पानी आने के क्या कारण होते हैं – Causes Of Tears In Eye In Hindi ?

आंखों से पानी निकलने के बहुत से कारण होते हैं जैसे कि :-

  • अगर कोई व्यक्ति पूरा दिन मोबाइल फोन का इस्तेमाल करता है या फिर कंप्यूटर का इस्तेमाल करता है, तो उसके कारण भी व्यक्ति की आंखों से पानी निकल सकता है। क्योंकि इनमें से निकलने वाली रेडिएशन व्यक्ति की आंखों को नुकसान पहुंचाती हैं।
  • अगर हम सफर करते हैं सफर के दौरान यदि हमारी आंख में कुछ चला जाता है, तो उसके कारण बीमारी आंखों से पानी निकल सकता है, लेकिन जो पदार्थ हमारी आंखों में गया है ओर उसके कारण अश्रु नलिकाओं को नुकसान पहुंचता है, तो उसके कारण भी यह समस्या उत्पन्न हो सकती है़।
  • यदि आपकी दृष्टि कम हो चुकी है, तो उसके कारण भी आपकी आंखों से पानी निकल सकता है, क्योंकि नजर कमजोर होने पर अक्सर आंखों से पानी निकलना एक आम समस्या है।
  • बहुत बार एलर्जी के कारण भी हमारी आंखों से पानी निकल सकता है।
  • जब किसी व्यक्ति की आंख आ जाती है, तो उसके कारण भी उसकी आंखों से पानी निकल सकता है।
  • बहुत बार किसी आई ड्रॉप ( eye drop ) के कारण भी व्यक्ति की आंखों से पानी निकल सकता है।
  • अगर किसी व्यक्ति को कोई गंभीर बीमारी है, तो उसके कारण भी आंखों से पानी निकलना आम बात है।
  • बहुत बार सर्दी, खांसी, जुकाम की वजह से भी हमारी आंखों से पानी निकल जाता है परंतु यह लक्षण कुछ ही समय के लिए होते हैं।
  • जब किसी व्यक्ति को थायराइड की समस्या होती है, तो उसके कारण भी आंखों से पानी निकल सकता है। इसीलिए आपको आंखों से पानी निकलने की समस्या में एक बार अपना ब्लड टेस्ट भी करवा लेना चाहिए।

आंखों से पानी आने का परीक्षण कैसे होता है – Diagnosis Of Tears In Eye In Hindi ?

जब किसी व्यक्ति की आंखों से लगातार पानी आता है, तो उसे एक या दो दिन तक इंतजार करना चाहिए। यदि इस बीच आंखों से पानी निकलना बंद हो जाता है तो अच्छी बात है, अन्यथा आपको तुरंत ही आंखों के डॉक्टर के पास जाना चाहिए और आंखों का डॉक्टर आपकी आंखों की अच्छी तरह जांच करता है।

आपके बहुत से टेस्ट कर सकता है, वह आंखों की सूजन चेक कर सकता है या फिर आपकी दृष्टि चैक भी कर सकता है। इसके अतिरिक्त और भी आंखों से संबंधित संक्रमण होते हैं जिनकी जांच की जा सकती है। यदि डॉक्टर को ऐसा लगता है कि किसी दूसरी शारीरिक बीमारी की वजह से आपकी आंखों से पानी निकलता है, तो डॉक्टर उसकी जांच के लिए भी आपको बोल सकता है।

Vitamin C in Hindi: क्या है विटामिन c जानिए विटामिन सी के फायदे, नुकसान एवं इसकी कमी से होने वाले रोग | What is Vitamin C know its uses health benefits Top sources and side effects in Hindi

आंखों से पानी आने की समस्या से कैसे बचें – Prevention Of Tears In Eye In Hindi ?

  • अगर आप आंखों में पानी आने की बीमारी से बचना चाहते हैं तो, आपको हमेशा सफर के दौरान चश्मे का इस्तेमाल करना चाहिए, क्योंकि चश्मे से आपकी आंखें सुरक्षित रहती है जिसके कारण आंखों में धूल-मिट्टी के कण नहीं जा पाते।
  • आंखों को धूप से बचाने के लिए भी आपको चश्मे का इस्तेमाल करना चाहिए। क्योंकि धूप के कारण भी बहुत से व्यक्तियों की आंखों से पानी निकल सकता है।
  • अपनी आंखों की अच्छी सेहत के लिए आपको संतुलित आहार का सेवन करना चाहिए। खासतौर पर हरी सब्जियों का सेवन आपको करना चाहिए। इसके अतिरिक्त यदि सलाद में सफेद प्याज खाते हैं, तो वह भी आपकी आंखों के लिए बहुत ज्यादा फायदेमंद होती है।
  • आपको प्रतिदिन अपनी आंखों का व्यायाम करना चाहिए, आंखों का व्यायाम करने से भी आपकी आंखें हमेशा तंदुरुस्त रहती हैं।
  • आपको एलर्जी पदार्थों से दूर रहना चाहिए और यदि आपकी आंखों में कुछ गिर जाता है, तो आपको अपनी आंखें नहीं मसल नहीं चाहिए अपनी आंखों को ठंडे पानी से उसी समय धोना चाहिए।
  • आपको अपनी आंखों की समय-समय पर जांच करवानी चाहिए।
  • अगर आप अपने घर से बाहर मिट्टी से संबंधित कोई कार्य कर रहे हैं, तो जब तक आप अपने हाथों को अच्छे से धो ना लें तब तक आपको अपनी आंखों पर अपने हाथ नहीं लगाने चाहिए।
  • आंखों को स्वस्थ रखने के लिए हमारी जीवन शैली का अहम योगदान होता है। यदि कोई व्यक्ति बचपन से ही मोबाइल फोन का इस्तेमाल ज्यादा करता है या फिर कोई व्यक्ति कंप्यूटर पर काम करता है, तो उसके कारण भी व्यक्ति की आंखें खराब होने का खतरा बना रहता है। इसीलिए यदि आप कंप्यूटर पर कार्य करते हैं, तो आपको एंटीरिफ्लेक्शन चश्मा बनवाना चाहिए, ताकि आपकी आंखों पर बुरा असर ना पड़े।
Tears In Eye: आंखों से पानी आना या Watery Eyes जानिए इसके लक्षण, कारण एवं इलाज ? |Tears In Eye Know About Its Symptoms Causes and Best Treatments in Hindi
इमेज सोर्स :- Canva

आंखों से पानी आने का इलाज – Treatment Of Tears In Eye In Hindi ?

  • अगर किसी व्यक्ति की आंखों से पानी आता है और वह डॉक्टर के पास दवाई लेने के लिए जाता है, तो डॉक्टर उस व्यक्ति की जांच के दौरान आंखों में डालने की दवाइयां भी दे सकता है, क्योंकि आंखों में डालने की दवाइयों से आंख के अंदर जमा हुए कचरे को भी बाहर निकाला जा सकता है, इसी के साथ साथ दवाई के माध्यम से अश्रु-नलिकाओ को भी साफ किया जा सकता है।
  • डॉक्टर आपको आंखों के अच्छे स्वास्थ्य के लिए एंटी एलर्जीक तथा एंटीबायोटिक दवाइयां भी दे सकता है, क्योंकि बहुत बार आंखों में एलर्जी की वजह से भी आंखों से लगातार पानी निकल सकता है जो देता है ठीक हो जाते हैं तो अच्छी बात है, आपको कुछ दूसरे गंभीर बीमारियों के टेस्ट करवाने को भी कहा जा सकता है। क्योंकि बहुत बार गंभीर बीमारियों के कारण भी व्यक्ति की आंखों से पानी निकल सकता है। खासतौर पर मधुमेह के रोगियों को इस बीमारी का सामना करना पड़ता है, इसीलिए डॉक्टर आपको ब्लड टेस्ट के लिए भी कह सकता है।

Conclusion –

हम उम्मीद करते हैं, कि आपको Tears In The Eyes In Hindi के बारे में सभी जानकारी प्राप्त हो चुकी होंगी। इस आर्टिकल के माध्यम से हमने आपको Watery Eyes Causes In Hindi तथा Watery Eyes Treatment In Hindi के बारे में ही बताया है, अगर आपको हमसे कोई प्रश्न पूछना है, तो कमेंट बॉक्स में कमेंट करें। धन्यवाद

Share this post

Share on facebook
Share on twitter
Share on linkedin
Share on whatsapp

Related Posts

Saridon tablet uses in Hindi

Saridon Tablet in Hindi : सेरिडॉन टैबलेट कैसे इस्तेमाल करें क्या है इसके फायदे एवं नुक्सान |Saridon Tablet uses, Benefits and side effects in Hindi

Saridon Tablet in Hindi : सेरिडॉन टैबलेट कैसे इस्तेमाल करें क्या है इसके फायदे एवं नुक्सान |Saridon Tablet uses, Benefits and side effects in Hindi

Read More »

Gallstones or Gallbladder Stone in Hindi: क्या आप भी है पित्त की थैली की पथरी से परेशान तो जानिए इसके घरेलु उपचार एवं बचाव की सम्पूर्ण जानकारी | Gallbladder Stone symptoms, causes and Treatment in Hindi

Post Views: 22 What is Gallbladder Stone in Hindi ? पित्त की पथरी क्या है ? पित्त की थैली यानि गॉलब्लेडर, (Gallbladder) हमारे शारीर का

Read More »
B Long Tablet in Hindi | बी लांग टैबलेट किस काम आती है जानिए इसके फायदे, इस्तेमाल और नुक्सान की जानकारी हिंदी में |B Long Tablet Uses, Benefits, Side Effects in Hindi

B Long Tablet in Hindi | बी लांग टैबलेट किस काम आती है जानिए इसके फायदे, इस्तेमाल और नुक्सान की जानकारी हिंदी में |B Long Tablet Uses, Benefits, Side Effects in Hindi

B Long Tablet in Hindi | बी लांग टैबलेट किस काम आती है जानिए इसके फायदे, इस्तेमाल और नुक्सान की जानकारी हिंदी में |B Long Tablet Uses, Benefits, Side Effects in Hindi

Read More »
Walnuts in Hindi:  जानिए अखरोट खाने के फायदे एवं नुकसान साथ ही अखरोट को कब और कितनी मात्रा में इस्तेमाल करना चाहिए| Benefits of Walnut (Akhrot) in Hindi

Walnuts in Hindi:  जानिए अखरोट खाने के फायदे एवं नुकसान साथ ही अखरोट को कब और कितनी मात्रा में इस्तेमाल करना चाहिए| Benefits of Walnut (Akhrot) in Hindi

Post Views: 103 अखरोट के विषय में सम्पूर्ण जानकारी | Know About Walnuts in Hindi दोस्तों जैसे जैसे उम्र बढ़ती जाती है सेहत में गिरावट

Read More »
Karvol Plus Capsule: क्या है कारवोल प्लस कैप्सूल जानिए इसके इस्तेमाल और साइड इफेक्ट्स सम्पूर्ण जानकारी | What Karvol Plus Capsule know its uses Benefits and Side Effects in Hindi

Karvol Plus Capsule in Hindi: क्या है कारवोल प्लस कैप्सूल जानिए इसके इस्तेमाल और साइड इफेक्ट्स सम्पूर्ण जानकारी | What Karvol Plus Capsule know its uses Benefits and Side Effects in Hindi

Karvol Plus Capsule: क्या है कारवोल प्लस कैप्सूल जानिए इसके इस्तेमाल और साइड इफेक्ट्स सम्पूर्ण जानकारी | What Karvol Plus Capsule know its uses Benefits and Side Effects in Hindi

Read More »
ivecop-12 tablet uses in Hindi

Ivecop 12 Tablet in Hindi: इवेकोप 12 टैबलेट के फायदे इस्तेमाल एवं साइड इफ़ेक्ट की जानकरी | Ivecop 12 Tablet Uses, Benefits and Side Effects in Hindi  

Ivecop 12 Tablet in Hindi: इवेकोप 12 टैबलेट के फायदे इस्तेमाल एवं साइड इफ़ेक्ट की जानकरी | Ivecop 12 Tablet Uses, Benefits and Side Effects in Hindi  

Read More »